संदेश

August, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

एक्स-गर्लफ्रेंड

रोज-रोज उसकी आती यादों में आँखों का पानी जलता है, जब वो किसी और से मिलती है तो दिल से धुँआ निकलता है, कभी रात भर जो हमसे मोबाइल पर बतयाती थी,
आजकल उसका नंबर डायल करने पर हमेशा व्यस्त मिलता है....

विल पॉवर

देश के भविष्य का अंदाजा कुछ इस तरह लग जाता है, जब लड़कों के कंधों पर थोड़ा बोझ डाला जाता है, लोग यूँ ही नहीं कहते कि मोहब्बत में बड़ी ताक़त होती है, क्योंकि ६० किलो की गर्ल फ्रैंड उठाने में भारी नहीं लगती, लेकिन १६ किलो का गैस सिलेंडर उठाने में दम निकल जाता है...