संदेश

November, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

काजल

उसकी बड़ी-बड़ी आँखों पर काजल की हदों ने
न जाने कितने दिलों को बाँट दिया होगा
कोई हिस्सा कह रहा होगा आफरीन-आफरीन
और कोई चश्म-ए-बद्दूर की दुआ पढ़ रहा होगा।