धोख़ेबाज़ी

बातें बनावटी हों तो भी पकड़ आ जाती हैं
फिर चेहरों से इंसान धोख़ा क्यूँ खा जाता है?

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Handsome लड़का

आदमी

लघु कथा - Offline