संदेश

March, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

संसार

ये पौधे
ये पेड़
कंकड़
पत्थर
माटी की बामी
आसमान
सब भाग रहे हैं
एक बुद्ध की तलाश में
खुद में एक-एक बुद्ध छुपाये।

ज़िन्दगी के नाम

Dear Zindgi

ज़िन्दगी तुझे तलाश करते-करते
न जाने कहाँ निकल आये हम
और कमबख्त तुम्हें फुरसत नहीं
व्हाट्स एप और एफ़बी से निकलने की

Yours truly
Chakresh Surya

कमीना

वो रो रही थी, उसकी सहेली ने रोने का कारण पूछा तो वो बोली कि "मैं जिसे चाहती हूँ वो मुझे नहीं चाहता।"
फिर?
वो कहता है कि वो सिर्फ़ मेरी Physical need पूरी कर सकता है, Emotional नहीं।
और ऐसा उसने फोन पर कहा?
हाँ।
ये लड़के होते ही कमीने हैं। फिर तुमने क्या कहा?
मैंने कहा कि मैं जिसके शादी करूँगी बस उसी के साथ ये सब करूँगी।
कुछ दिन बाद जब वो फिर से रोती हुई मिली तो उसकी सहेली ने फिर से कारण पूछा, क्या हुआ?
उसने शादी से मना कर दिया।
तो दुनिया ख़त्म हो गयी क्या? और उसने तो पहले ही कह दिया था कि वो सिर्फ़ तुम्हारी..(बीच में ही रोककर)
नहीं वो नहीं.. मुझे दूसरा लड़का पसंद आया। फोन पर बोला कि तुमसे ही शादी करूँगा तो मैं उससे मिलने चली गयी। उसके घर पर भी रुकी थी। अब फोन पर कह रहा है कि घरवाले नहीं मानेंगे।
तो अब क्या?
मुझे लगता है जो लड़के वाक़ई में कमीने होते हैं वो अपना कमीनापन काण्ड करने के बाद दिखाते हैं।

Handsome लड़का

एक लड़के को डेट कर रहे थे, पहली बार मिल रहे थे ICH में। डोसा आर्डर करके दोनों खाने लगे। फ़र्क इतना था कि हम हाथ से खा रहे थे और वो छुरी-काँटे से। फिर क्या था, लड़कपने में लड़के ने सवाल दाग़ दिया, आप हाथ से? छुरी-काँटे से नहीं आता क्या? अब लौंडे ने जो बात लड़कपन में बोली थी हमने उसका जवाब हँसते हुए दे दिया कि "आता तो है लेकिन हम इस तरह से right hand में fork और left hand में kinfe नहीं पकड़ते। वो उसके साथ हमारी पहली और आख़िरी डेट थी। अब ये बात समझ नहीं आती कि उसको बुरा क्या लगा? हमारी हँसी या हमारा जवाब? वैसे इतना बुरा तो नहीं हँसते हम... है न? हालाँकि थोड़ा दुःख होता है जब सोचते हैं तो क्योंकि वो काफ़ी handsome था।

P.s. लौंडे, तुम जो भी हो वापिस आ जाओ, तुमको दुबारा से छुरी-काँटा ग़लत पकड़ने पर कोई कुछ नहीं बोलेगा।